उत्तर प्रदेश

लखनऊ जनकल्याण महासमिति ने वी के दुबे को बनाया संरक्षक तो अंशू मिश्रा और मनोज जायसवाल को मिली सचिव की जिम्मेदारी

ब्रेकिंग न्यूज़ यूपी

लखनऊ जनकल्याण महासमिति ने कोरोना काल मे जनसहयोग करने वाले महासमिति के सदस्यो को निम्नलिखित जिम्मेदारी दी है। महासमिति के महासचिव रामकुमार यादव की तरफ से जारी आदेश में बताया गया है कि महासमिति ने कोरोना काल मे जनसहयोग में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले आशियाना निवासी वी के दुबे को महासमिति का संरक्षक बनाया गया है।

वी के दुबे – संरक्षक

वही एम आई रसल कोर्ट गोमती नगर विस्तार निवासी अंशू मिश्रा को महासमिति का सचिव नामित किया गया है। अंशू मिश्रा की पहल से एम आई रसल कोर्ट गोमती नगर विस्तार में एक टीम बनाकर आपातकालीन हेल्थ सेंट्रर की शुरुआत की गई है जिसमे आक्सीजन ह्विलचेयर सहित वह सभी आवश्यक उपकरण है जो कोविड काल मे आक्सीजन लेबल कम होने पर लोगो की मदत की जा रही है और लोग ठीक भी हो रहे है। यह के चिकित्सक भी जनसहयोग के माध्यम से लोगो की मदत कर रहे है।

अंशू मिश्रा – सचिव

शिप्रा अपार्टमेन्ट गोमती नगर विस्तार निवासी मनोज जायसवाल को लखनऊ जनकल्याण महासमिति का सचिव नामित किया गया है। मनोज जायसवाल इस कोरोना काल मे महासमिति के निवेदन पर हजारों लोगों को ऑक्सीजन का छोटा केन राजस्थान से मंगाकर उचित मूल्य पर बगैरे कोई फायदा लिए उपलब्ध करा रहे है और लोगो की जान बचाने मे मदत कर रहे है।

मनोज जायसवाल – सचिव

लखनऊ जनकल्याण महासमिति के अध्यक्ष उमाशंकर दुबे ने वी के दुबे, अंशू मिश्रा, और मनोज जायसवाल को नई जिम्मेदारी के लिए बधाई दी है। उमाशंकर दुबे ने कहा लखनऊ के विभिन्न हिस्सो में रहने वाले जनसयोग जो लखनऊ को बेहतर बनाने में मददगार होंगे उन्हें न सिर्फ महासमिति से जोड़ा जाएगा बल्कि उन्हें महत्वपूर्ण जिम्मेदारी देकर उनके अनुभव उनकी ऊर्जा और उनकी जनसेवा की सोच से पूरे लखनऊ को लाभान्वित किया जाएगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

sixteen − 14 =

Back to top button