अपराध

सरयू आपर्टमेंट में चोरी करने वाला करोड़पति चोर गिरफ्तार

ब्रेकिंग न्यूज़ यूपी

लखनऊ– गोमती नगर विस्तार पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है पुलिस ने पिछले दिनों सरयू आपर्टमेंट में हुई चोरी के वरदान में मुख्य अपराधी को प्रतापगढ़ से गिरफ्तार किया है। साथ ही पुलिस ने एक प्रतापगढ़ के ही ज्वेलर को गिरफ्तार किया है जिसको चोर ने चोरी के गहने बेचे थे। पुलिस सूत्रों की माने तो प्रतापगढ़ के हथियापुर थाना निवासी राकेश सरोज पिछले लंबे समय से चोरी का साम्राज्य चला रहा था, उसका दिल्ली में 2 मकान सहित चोरी से करोङो की संपत्ति अर्जित की है। राकेश इससे पहले नोएडा और दिल्ली के अपार्टमेंटों में चोरी की वारदात की थी। सरयू आपर्टमेंट के चोरी के नगदी और ज्वेलरी सहित लगभग 23 लाख की चोरी का खुलाशा हुवा है जिसमे 7 लाख 50 हजार नगद, के साथ चोरी के पैसे से खरीदी गई 3.5 लाख का ऑटो, चोरी के पैसे से खरीदी गई 1.5 लाख की मोटरसाइकिल की बरामदगी के साथ एक कम्पास जीप, एक महेंद्र टैक्टर जिसके लोन में चोरी के पैसे से 5 लाख रुपये जमा किये थे।

चोरी की वारदात में 2 अन्य अभियुक्त फरार है जिनका नाम अनिल निवासी इलाहाबाद और सौरभ प्रतापगढ़ का बताया जा रहा है। जिन्हें चोरी की घटना के बाद अपराधी राकेश सरोज ने 2.7 और 2.7 लाख रुपये दिए थे जिस पैसे की बरामदगी अभी नही हो सकी है। थाना प्रभारी पवन कुमार पटेल के निर्देश पर इंचार्ज विनोद यादव के नेतृत्व में बनी टीम में एसआई मुन्ना सिंह, एसआई अनुरुद्ध यादव, सिपाही गुलाब सिंह, सिपाही दिपेश कुमार और अनुज शामिल थे ।

इस पूरी टीम का नेतृत्व क्षेत्राधिकारी स्वेता श्रीवास्तव कर रही थी। पूरे मामले में पुलिस कमिश्नर डीके ठाकुर निगरानी रखे हुवे थे और पुलिस के यह चोरी की वारदात तब और चुनौती बन गया था जब सरयू अपार्टमेन्ट निवासी असिस्टेंट कमिश्नर संजय शुक्ला की पिछपे दिनों उनके घर पर ही संदिग्ध परिस्थितियों में गोली लगने से मौत हो गयी थी।
गौरतलब है कि लखनऊ गोमती नगर विस्तार के सरयू आपर्टमेंट में 5 मई 2021 की रात बड़ी चोरी/ डकैती की घटना सामने आयी है। सरयू आपर्टमेंट के फ्लैट नम्बर B 3- 3082 के मालिक संजय शुक्ला जो असिस्टेंट कमिश्नर सेलटैक्स वाराणसी में पोस्टेड थे पिछले कई दिनों से पूरा परिवार शहर से बाहर था।

सुबह दरवाजा टूटा देख पड़ोसियों ने सरयू आरडब्ल्यूए के सचिव रमेश दुबे को जानकारी दी। रमेश दुबे की सूचना पर मौके पर पहुची पुलिस ने आरडब्ल्यूए सचिव की तहरीर पर धारा 457 और 380 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया था। वही आपर्टमेंट की सीसीटीवी में पूरी घटना और संदिग्ध दिखे थे जिनकी संख्या 3 बताती जा रही थी । यह सभी चोर बाउंड्री फांद कर आये थे और सूचना थी कि घर से नगदी और गहने लेकर फरार हो गए थे । सूचना मिलते ही मकानमालिक का परिवार लखनऊ पहुच गया और चोरी की में गए सामान का आकलन करके सरयू आरडब्ल्यूए के सचिव को बताया कि लगभग 2 लाख रुपये से अधिक की नगदी के साथ लगभग 23 लाख रुपये से अधिक के गहने चोरी हुवे है । ध्यान देने वाली बात है चोर सिर्फ गहने और नगदी चोरी किये और फरार हो गए थे ।

लखनऊ जनकल्याण महासमिति ने इस घटना के खुलाशा के लिए पुलिस का आभार व्यक्त किया है। महासमिति के अध्यक्ष उमाशंकर दुबे ने बताया कि मामले में कड़ी मेहनत कर खुलाशा करने वाली पूरी पुलिस टीम को लखनऊ जनकल्याण महासमिति सम्मानित करेगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

twelve − 11 =

Back to top button