उत्तर प्रदेश

लखनऊ में 8528 कर्मचारियों की जिदंगी पंचायत चुनाव की ड्यूटी में लगेगी दांव पर

ब्रेकिंग न्यूज़ यूपी, लखनऊः गली मोहल्लों के हर दूसरे तीसरे घर में कोरोना संक्रमित है. अधिकांश सरकारी कर्मचारियों का भी यही हाल है, उनके घरों में भी संक्रमण है. लखनऊ में सरकारी आंकड़ों की बात करें तो शनिवार को छह हजार के करीब संक्रमित सामने आए हैं और 36 की मौत हुई है. इसके बावजूद पंचायत चुनाव सोमवार को होंगे. बंदी के बावजूद पोलिंग पार्टियां रवाना होंगी. 8528 कर्मचारियों की जिंदगी दांव पर होगी और कोरोना संक्रमित हो जाने की आशंका के बीच कर्मचारी चुनाव ड्यूटी के लिए निकलेंगे.
लखनऊ में 19 अप्रैल को पंचायत चुनाव होंगे. 494 ग्राम पंचायतों के प्रधान,  25 बीडीसी और वार्ड मेंबर के लिए चुनाव होगा. चुनाव करवाने के लिए 8528 कर्मचारियों और अधिकारियों की ड्यूटी लगवाई गई है. हर ओर डर है और ड्यूटी पर न जाने के सच्‍चे झूठे तर्क भी. कारण भी वाजिब है, अनेक कर्मचारियों की मौत हुई है. हजारों संक्रमित हैं, ऐसे में ड्यूटी करना टेढ़ी खीर होगा.


नगर निगम और एलडीए में कर्मचारियों की मौत

एलडीए में एक अवर अभियंता राजेश राय और महिला लिपिक संतोष गुप्‍ता की मृत्‍यु हो शनिवार को हो गई. इसी तरह नगर निगम में महिला कर्मचारी छाया बाजपेई का निधन हो गया. बैरिस्‍टर नाम के कर्मचारी की पत्‍नी का निधन हो गया और वह गंभीर हैं.


उचित इलाज की व्‍यवस्‍था सरकार करें

नगर निगम के कर्मचारी नेता शशि कुमार मिश्र, आनंद वर्मा औरआवास विकास परिषद के नेता राजेश दुबे ने मांग की है कि कर्मचारियों के उचित इलाज की व्‍यवस्‍था सरकार करें. कर्मचारी आगे रह कर जनता की सेवा करते हैं. कोविड काल में भी उन्‍होंन बहुत मेहनत की है. इसके बावजूद उनको इलाज के लिए तड़पना पड़ रहा है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

14 − 7 =

Back to top button