लाइफस्टाइल

मेल फर्टिलिटी को नुकसान पहुंचा रहा लैपटॉप, जानें यूज करते समय किन बातों का रखें ध्‍यान

कोरोना के खतरे के मद्देनजर वर्क फ्रॉम होम का कल्‍चर बढ़ा है. इस कल्‍चर के फायदे हैं, तो नुकसान भी उठाना पड़ सकता है. अक्‍सर लोग गोद में लैपटॉप (Laptop) लेकर घंटों काम करते हैं. इस खतरे से अंजान होकर कि यह आपकी सेहत (Health) के लिए बहुत नुकसानदायक हो सकता है. खासतौर पर अगर आप मेल यानी पुरुष हैं तो यह आदत सीधे तौर पर आपकी फर्टिलिटी (Male Fertility) को प्रभावित कर सकती है. जाने माने मेडिकल जरनल ‘Fertility and Sterility’ में अमेरिका के वैज्ञानिकों ने अपनी एक रिपोर्ट दी है जिसमें इस बात का खुलासा किया गया है.

मेडिकल न्‍यूज टुडे की एक रिपोर्ट के मुताबिक पुरुषों के लिए गोद में लैपटॉप रखकर उसे यूज करना उनकी फर्टिलिटी को सीधा नुकसान पहुंचाता है. दरअसल, लैपटॉप से निकलने वाली हीट पुरुषों के टेस्‍ट‍िकल के तापमान को बढ़ाती हैं जिससे स्‍पर्म की क्‍वालिटी खराब होने लगती है और इससे बाद फर्टिलिटी में प्रॉब्‍लम शुरू होने लगती हैं.वैज्ञानिकों का कहना है कि अगर आप अपनी गोद में लैपटॉप पैड रखकर, उसपर लैपटॉप रखकर फिर काम कर रहे हैं और यह सोच रहे हैं कि यह नुकसानदेह नहीं है तो आपका ऐसा सोचना गलत है. दरअसल, ऐसी पोजीशन में भी लैपटॉप आपके स्‍पर्म पर बुरा प्रभाव डाल सकता है. वैज्ञानिकों ने बताया कि अगर आप दोनों घुटनों को आपस में सटाकर थाई के उपर लैपटॉप पैड रखें और उसके उपर लैपटॉप रखें तो भी आप इसके रेडिएशन में आ सकते हैं.वैज्ञानिकों का कहना है कि अगर आपको इमरजेंसी के हालात में टेबल के बिना ही काम करना हो तो आप अपने दोनों घुटनों को सटाकर इसके उपर लैपटॉप पैड और लैपटॉप रखकर काम कर सकते हैं, बशर्ते आप 28 मिनट से ज्‍यादा इस पोजीशन में काम ना करें. सुझाव के तौर पर यह भी बताया गया है कि अगर पुरुष अपने लैपटॉप को टेबल पर रखकर यूज में लाते हैं, तो इसका प्रभाव कम हो जाता है. यह शोध स्‍टेट यूनिवर्सिटी ऑफ न्‍यूयॉर्क की एक टीम ने किया है. शोध लैपटॉप यूजर पुरुषों में बढ़ते हाइपरथेमिया की वजह को जानने के लिए किया गया.
क्‍यों है खतरनाक

शोध में पाया गया कि लैपटॉप से निकलने वाली हीट हमारी स्‍क‍िन और अंदर के टिशू को डैमेज कर सकती है. लैपटॉप से निकलने वाली ये हीट पुरुषों के टेस्‍ट‍िकल के तापमान को बढ़ाती है जिससे स्‍पर्म की क्‍वालिटी खराब होने लगती है. यह रिपोर्ट आप “Protection from scrotal hyperthermia in laptop computer users” लिंक पर डिटेल में पढ़ सकते हैं.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

four + nineteen =

Back to top button