टॉप न्यूज

भाजपा का मूल मंत्र सेवा ही राजनीति का पालन न करने वाले विधायकों पर पार्टी की निगरानी तेज

ब्रेकिंग न्यूज़ यूपी
लखनऊ – यूपी भारतीय जनता पार्टी के ऐसे विधायक जिन्हें पार्टी का मूल मंत्र सेवा ही राजनीति इस कोरोना काल मे भी समझ मे नही आ रही है, पार्टी अपने ऐसे विधायकों को 2022 में बाहर करने की योजना पर काम कर रही है। पार्टी सूत्रों की माने तो जो पार्टी के इस मूल मंत्र को समझने के बजाय अपनी निजी आमदनी बढ़ाने में लगे है, ऐसे विधायकों को लेकर जनता में आक्रोश है। भाजपा सूत्र बताते है कि की पार्टी आला कमान उनपर नज़र रखे हुवे है और साथ ही यूपी सरकार भी उनकी आमदनी और सम्पत्तियो पर निगरानी बहुत बारीकियों के साथ रखे हुवे है।

भाजपा आला कमान ऐसे विधायकों की सूचित तैयार कर रही है जो कोविड काल मे निष्क्रिय है साथ मे अनावश्यक बयानबाजी करके मीडिया में बने रहने की कोशिश के साथ क्षेत्र की जनता में अपनी संवेदना दिखा रहे है लेकिन जमीनी हकीकत में उनका कार्य संतोषजनक नही है बल्कि पिछले 4 सालों में उनकी आमदनी काफी बढ़ी है और तो और पिछले दिनों हुवे पंचायत चुनाव में भी इनमें से ज्यादातर विधायकों की भूमिका संदिग्ध रही है। सूत्रों की माने तो भाजपा अपने ऐसे विधायकों की सूची भी तैयार कर रही है जिन्होंने इन 4 वर्षों में महंगी महंगी गाड़ियों से लेकर सम्पत्तियो को दूसरों के नाम से अर्जित कर उसका उपभोग कर रहे है। उपरोक्त सभी तथ्य टिकट बंटवारे के समय भी मुद्दे होंगे। सूत्र तो यह भी बताते है कि 2022 के टिकट बंटवारे में ऐसे विधायकों को पार्टी प्रमुखता देगी जो जमीनी स्तर पर काम किये होंगे साथ ही कोविड काल मे मीडिया में अनावश्यक बयानबाजी के बजाय अपने क्षेत्र के जनकल्याण के कार्यो मे अपनी सेवाएं दे रहे होंगे। पार्टी सूत्र तो यह भी बताते है कि 2022 के टिकट बंटवारे में कोरोना काल मे जनसहयोग करने वाले विधायकों को पार्टी प्रमुखता में रखेगी। पार्टी 100 से अधिक विधायकों पार्टी की रडार पर है ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

11 − four =

Back to top button