उत्तर प्रदेश

गोमती नगर विस्तार के पार्कों में चोरी की बिजली से एलडीए करता है सिंचाई, एक पार्क का कनेक्शन कटने से हुवा खुलाशा

रिपोर्ट – रामकुमार यादव

लखनऊ – गोमती नगर विस्तार में कुल 50 से अधिक छोटे और बड़े पार्क हैं इनमें ज्यादातर पार्कों में अनुरक्षण का कार्य भी शुरू हो गया है, करोड़ों करोड़ों रुपए ठेकेदारों को भुगतान भी किए जा रहे हैं लेकिन दुर्भाग्यपूर्ण है की इन पार्कों में लगे पानी के मोटर का अभी तक अधिकृत रूप से बिजली कनेक्शन नहीं लिया गया।

अनाधिकृत रूप से चलाए जा रहे चोरी के बिजली से इन पार्कों की सिंचाई का कार्य किया जाता है। मामले का खुलासा तब हुआ जब गोमती नगर विस्तार के ग्रीनवुड एच ब्लॉक के बगल में बने पार्क का बिजली कनेक्शन बिजली विभाग के लाइनमैन ने काट दिया ।

दरअसल या पार्क भले ही लखनऊ विकास प्राधिकरण का है लेकिन इस पार्क का रखरखाव उत्तर प्रदेश उपभोक्ता फोरम के सदस्य जस्टिस राजेंद्र सिंह कर रहे हैं। एलडीए के एक अधिकारी ने अपना नाम न बताने की शर्त पर ब्रेकिंग न्यूज़ यूपी को बताया कि पार्कों में बोरिंग तो हो गई है उसके अनुरक्षण का कार्य भी उद्यान विभाग को दे दिया गया है, जिस संबंध में एलडीए ने रखरखाव के लिए ठेका भी दे दिया है, कई सालों से रखरखाव का कार्य भी जारी है,

लेकिन जो पानी की बोरिंग पार्कों की सिंचाई के लिए की गई है उसका अधिकृत बिजली कनेक्शन नहीं लिया गया है जिसके कारण पार्कों की सिंचाई रखरखाव कर रहे उपरोक्त सभी ठेकेदार बिजली विभाग के कर्मचारियों की मिलीभगत से चोरी की बिजली से कर रहे हैं। चूँकि गोमती नगर विस्तार ग्रीनवुड एच ब्लॉक के बगल के पार्क का रखरखाव एलडीए के ठेकेदार भले कागजों में कर रहे है लेकिन मौके पर इसे सुंदर बनाने का कार्य जस्टिस राजेन्द्र सिंह कर रहे है, आरोप है कि इस कारण से बिजली विभाग के कर्मचारियों को कोई पैसा नही मिल रहा तो पार्क का बिजली कनेक्शन काट दिया गया।

लखनऊ जनकल्याण महासमिति के अध्यक्ष उमाशंकर दुबे ने बताया कि उपरोक्त मामलों में एलडीए और लेसा दोनों के बड़े अधिकारियों से बात हुई लेकिन कोई स्प्ष्ट जबाब नही दे सका। मामले में एलडीए वीसी से शिकायत की गई है। पिछले दिनों यह पार्क न सिर्फ सुर्खियों में रहा बल्कि अद्भुत पार्क बन गया था,यह तस्वीर को देखकर लोग सोच में पड़ जाते थे कि यह किसी विदेशी पार्क की तस्वीर तो नही है, या उनके मन में यह विचार आता था कि कहीं यह तस्वीर आर्टिफिशियल ग्राफिक्स से तो नही बनाई गई है। अब अपनी के अभाव में इस पार्क में लगे पेड़ पौधे सूखने लगे है।

इस पार्क में कई देश के फूल पौधे लगे है जिसकी जिम्मेदारी निभाने का कार्य जस्टिस राजेन्द्र सिंह कर रहे है यह अलग बात है कि कागजों में इसे लखनऊ विकास प्राधिकरण मेंटेन कर रहा है । पर्यावरण प्रेमी जस्टिस राजेन्द्र सिंह के इस सहयोग में लखनऊ के ग्रीनवुड़ एच ब्लाक के निवासी भी भरपूर सहयोग कर रहे जो पार्क आज न सिर्फ गोमती नगर विस्तार बल्कि पूरे लखनऊ में प्रेरणा का स्रोत बना हुआ था लेकिन एक बार पुनः यह पार्क एलडीए की लापरवाही के कारण बर्बाद हो रहा है।उमाशंकर दुबे ने एलडीए वीसी से विस्तार के पार्कों की जांच की मांग की है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

nine + 16 =

Back to top button