उत्तर प्रदेश

कोरोना काल मे चल रहा एलडीए का अनाधिकृत कुडा घर, हटाने की मांग- महासमिति

रिपोर्ट – रामकुमार यादव

ब्रेकिंग न्यूज़ यूपी

लखनऊ जनकल्याण महासमिति ने गोमती नगर विस्तार में बने मानकों के विपरीत बने अनाधिकृत कुडा कलेक्शन घर हटाने की मांग की है। महासमिति के अध्यक्ष उमाशंकर दुबे ने बताया कि गोमती नगर विस्तार सेक्टर 4 के आवासीय क्षेत्र में एलडीए ने खुले में कुडा घर बना दिया है इस संबंध में महासमिति ने पिछले दिनों एलडीए से कई बार निवेदन किया लेकिन कोई कार्यवाही न होने पर महासमिति ने यूपी सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट कमेटी से शिकायत की थी।

जिस संबंध में तत्कालीन कमेटी ने यूपी प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड लखनऊ को मामले की जांच कर उचित कार्यवाही के लिए आदेश दिए थे। उमाशंकर दुबे ने बताया कि यूपी प्रदुषण नियंत्रण बोर्ड ने जांच में महासमिति की शिकायत को पूरी तरह से सही पाया और एलडीए को कार्यवाही के लिए लिखा था लेकिन अभी तक कोई कार्यवाही नही हुई और स्थिति और भयावह होती जा रही है।

उमाशंकर दुबे ने इस सम्बंध में पूर्व डीजीपी एवं राज्य सभा सांसद बृजलाल को पत्र लिखकर शिकायत की है, दरसल बृजलाल न सिर्फ गोमती नगर विस्तार के हिस्सा है बल्कि उनके घर से 100 मिनट के अंदर ही यह कुडा घर है इस लिए वह खुद जनता की इस पीड़ा से भलीभांति परिचित है। उमाशंकर दुबे ने कहा आजकल कोरोना का आपतकाल चल रहा है। आस पास के लोगो का वहाँ रहना मुश्किल हो गया है। इस खुले में बने कुडा घर से जल और वायु दोनों प्रदूषण फैल रहा है।

कूड़े का लीचैट जहाँ एक तरफ खुले में नालों के माध्यम से गोमती नदी में जा रहा वही उसकी बदबू कोरोना जैसे आपातकाल में वायु प्रदूषण फैला रही है। उमाशंकर दुबे ने बताया कि आज भी कोरोना के इस माहौल में मौके पर कई ट्रक कुडा पड़ा है जिसके कारण पूरे क्षेत्र में गंदगी और बदबू फैला हुवा है।

जबकि सरकार सेनेटाइजेसन से लेकर फॉगिंग तक कि व्यवस्था कर रही है जिससे कोरोना को कंट्रोल किया जा सके लेकिन यहाँ कूड़े का काम देख रही निजी संस्था और एलडीए इसका पालन नही कर रही। इतना ही नही जहाँ एक तरफ कूड़े से निकलने वाला “लीचैट”निकल कर नाले के माध्यम से गोमती नदी में जा रहा है वही कोरोना काल मे पीपीकिट और मास्क गल्प्स आदि सामग्री भी इस कूड़े में पड़ी हुई है जो संक्रमण का एक सबसे बड़ा कारण भी बनी हुई है।

इतना ही नही यहाँ पर लीचैट होल्डिंग टैंक या उसे संशोधित करने के लिए भी कोई व्यवस्था नही किया गया है जो मानव जीवन को प्रभावित कर रहा है जिससे कोरोना सहित अन्य प्रकार की विमारी के फैलने का खतरा बना हुवा है जो Solid waste management rule 2016 और राष्ट्रीय हरित ट्रिब्यूनल के आदेशों का पूरी तरह से उलंघन है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

twenty + thirteen =

Back to top button