टॉप न्यूज

एनडीए पर लगा डिफाल्टर का आरोप रेरा ने भेजा 21 लाख रुपये से अधिक बसूली नोटिस

नाम- लखनऊ विकास प्राधिकरण। पता – प्राधिकरण भवन विपिन खंड गोमती नगर लखनऊ। आरोप डिफाल्टर होने का,वसूली धनराशि 21,30,565.79/-(इक्कीस लाख तीस हजार पाँच सौ पैंसठ रुपए उन्यासी पैसा मात्र । यह सब आपको सुनकर हैरानी हो रही होगी लेकिन यह सही है। यह वही प्राधिकरण जो सरकारी है जिसके कंधे लखनऊ के विकास की जिम्मेदारी है लेकिन आज कल यह प्राधिकरण अपनी जिम्मेदारी की सोच से दूर चला गया है जिसके कारण सरकारी एजेंसियों को इसे डिफाल्टर घोषित करना पड़ रहा है। आपने सही समझा यह सब कोई पीड़ित जनता का बयान नही है बल्कि उ०प्र०भू-संपदा विनियामक प्राधिकरण रेरा ने यह आदेश दिए है। लखनऊ जनकल्याण महासमिति के अध्यक्ष उमाशंकर दुबे ने बताया कि शिकायतकर्ता सृष्टि अपार्टमेंट आवंटी विवेक शर्मा लखनऊ जनकल्याण महासमिति के उपाध्यक्ष के साथ साथ सृष्टि अपार्टमेन्ट के सचिव है उंन्होने एलडीए के खिलाफ एक बाद दायर किया था जिस पर सुनबाई उपरांत आदेश दिनांक 24/01/2019 को पारित किया गया जिसका अनुपालन विकासकर्ता लखनऊ विकास प्राधिकरण ने नहीं किया जिसके किर्यान्वयन करवाने का अनुरोध परेशान आवंटी विवेक शर्मा ने प्रार्थना पत्रों(23/01/2020 व 06/02/2021) के माध्यम से रेरा कोर्ट को किया था।जिस पर रेरा कोर्ट की बेंच-1 ने दिनांक 15/02/2021 को उ०प्र०भू-संपदा विनियामक प्राधिकरण द्वारा धारा-40 के अंतगर्त प्रदत्त शक्तियों का उपयोग उपयोग करते हुए डिफाल्टर विकासकर्ता लखनऊ विकास प्राधिकरण, लखनऊ से 21,30,565.79/-(इक्कीस लाख तीस हजार पाँच सौ पैंसठ रुपए उन्यासी पैसा मात्र।भू-राजस्व की तरह बसूल करा कर सम्पूर्ण धनराशि रेरा के नाम बैंक ड्राफ्ट के माध्यम से सम्पूर्ण विवरणों सहित उपलब्ध कराने का आदेश किया गया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

13 − five =

Back to top button