उत्तर प्रदेश

एएसपी राजेश सिंह के नाम पर बनेगा गोमती नगर विस्तार में चौराहा, शोक सभा मे महासमिति ने की घोषणा

रिपोर्ट – रामकुमार यादव

लखनऊ – एएसपी स्व. राजेश कुमार सिंह के नाम पर जनेश्वर मिश्र 7 नम्बर गेट के सामने का चौराहा विकसित किया जाएगा। आज लखनऊ के गोमती नगर विस्तार सेक्टर 4 स्थिति माँ शारदा मंदिर में शोक सभा को संबोधित करते हुवे लखनऊ जनकल्याण महासमिति के अध्यक्ष उमाशंकर दुबे ने कहा कि पर्यावरण के प्रेमी राजेश सिंह हमेशा इस चौराहे को सही करवाने की मांग करते रहे है महासमिति न सिर्फ इस चौराहे का सुंदरीकरण उनकी याद में कराएगी बल्कि आजीवन उसका रखरखाव किया जाएगा।

गौरतलब है कि पिछले दिनों दिनाँक 28 मार्च 2021 दिन रविवार को राजेश सिंह का निधन हो गया। इस घटना के बाद कावेरी अपार्टमेन्ट सहित पूरे विस्तार में शोक व्याप्त है। राजेश सिंह की आत्मा को शान्ति मिले और परिवार को इस दुःख की घड़ी में प्रभु उनके परिवार को शक्ति दे, को लेकर आज दिनाँक 30 मार्च 2021 दिन मंगलवार को शाम 5 बजे गोमती नगर विस्तार सेक्टर 4 मां शारदा मंदिर पर एक शोक सभा का आयोजन किया गया है।

शोक सभा मे लखनऊ जनकल्याण महासमिति के अध्यक्ष उमाशंकर दुबे,महासचिव रामकुमार यादव महासमिति के सचिव कावेरी निवासी अमित सिंह, अमित सिंह यमुना, पवन उपाध्याय, डॉ मनोज मिश्रा,राजेश शर्मा, विनय मिश्रा, एस के गौतम, आत्मा राम तिवारी, अजित कुमार सिंह, थाना प्रभारी गोमती नगर विस्तार पवन कुमार पटेल, मयंक तिवारी, मंजुल तिवारी, डॉ शिवम त्रिपाठी, सतलज के अध्यक्ष वी के सेंगर,शारदा अपार्टमेन्ट के सचिव एन आर चंद्रमणि, दीपक जेटली, ग्राम प्रधान मखदूमपुर देवेश यादव, एच एम शुक्ला मौजूद थे

शोक सभा मे महासमिति के उपाध्यक्ष विवेक राय , वरिष्ट उपाध्यक्ष जे पी शुक्ला,संतोष कुमार मौर्य, अवध बार एसोसिएशन, हाईकोर्ट के निवर्तमान उपाध्यक्ष (कनिष्ठ) वैभव उपाध्याय, शिवानंद पांडेय एडवोकेट हाईकोर्ट, अखिलेश सिंह, अरविंद सिंह, दीपक श्रीवास्तव, राजीव मोहन श्रीवास्तव, जितेंद्र मिश्रा सहित बड़ी संख्या में स्थानीय लोग मौजूद थे।

अमित सिंह ने बताया राजेश सिंह पर्यावरण प्रेमी थे पर्यावरण को लेकर जब भी अभियान चलता तो राजेश सिंह न सिर्फ बढ़चढ़ कर हिस्सा लेते थे बल्कि खुद वृक्षारोपण में हिस्सा लेकर फौढा भी चलाते थे। लखनऊ जनकल्याण महासमिति के महासचिव रामकुमार यादव ने बताया कि राजेश सिंह स्वक्षता के क्षेत्र में भी अभियान चलाते थे,पिछले दिनों जनेश्वर मिश्र पार्क में उंन्होने जिस अभियान को बल दिया वह आज मिशन बन गया है।

लखनऊ जनकल्याण महासमिति के अध्यक्ष उमाशंकर दुबे ने कहा कि राजेश सिंह ने महासमिति के साथ मिलकर मतदाता जागरूकता अभियान को न सिर्फ बढ़ावा दिया बल्कि खुद मतदान केंद्र पर घंटो खड़े रहे और लोग उनके साथ खूब सेल्फी लेते देखे गए, और लोगो को मतदान के लिए प्रेरित करते रहे जिसका परिणाम रहा विस्तार में 2019 के चुनाव में मतदान प्रतिशत भी बढ़ा ।

इस अवसर पर डॉ मनोज मिश्रा, एस के गौरतम,रामकुमार यादव जितेंद्र मिश्र सहित बड़ी संख्या लोग राजेश सिंह पर अपना विचार व्यक्त करते हुवे भाउक हो गये। राजेश कुमार सिंह एसटीएफ में बतौर एडीशल एसपी तैनात थे । पीपीएस एसोसिएशन के महासचिव रहे राजेश सिंह उत्तर प्रदेश की प्रांतीय पुलिस सेवा के 2000 बैच के अधिकारी थे इससे पहले एमपी पीसीएस के तहत मध्य प्रदेश में तैनात रहे।

अमेठी में गौरीगंज अर्जून पुर के निवासी एडिशनल एसपी राजेश कुमार सिंह अधिकारियों तथा कर्मियों के बीच बेहद लोकप्रिय रहे। 47 वर्षीय राजेश सिंह का चयन वर्ष 2000 में बतौर डिप्टी एसपी के पद पर हुआ था। राजेश कुमार सिंह सीओ के पद पर चयनित होने के बाद बतौर सीओ लखनऊ, बिजनौर, बहराइच, बाराबंकी, शामली और मुज्जफरनगर में भी तैनात रहे।

वह 2013 में एडिशनल एसपी पद पर प्रोन्नत हो गए। लम्बे समय तक एडीजी लॉ के स्टाफ अफसर के पद पर तैनात रहे। इसके बाद पीएसी में एडीजी के स्टाफ अफसर रहे। वर्तमान में राजेश सिंह यूपी एसटीएफ में बतौर एडिशनल एसपी तैनात थे। राजेश कुमार सिंह ने एसटीएफ में रहते हुए शराब के बड़े सिंडिकेट को फैजाबाद में पकड़ा था। यूपीएसटीएफ के बीते महीने पीएफआई के आपरेशन को राजेश सिंह ने ही लीड किया था।


साधारण परिवार में जन्में मेधावी राजेश सिंह ने प्रयागराज में इलाहाबाद यूनिवर्सिटी से स्नातक तथा फिलॉसफी में परास्नातक की परीक्षा उत्तीर्ण की। वह सिविल सर्विस की तैयारी के दौरान एमपी पीसीएस में बतौर एक्साइज इंस्पेक्टर चयनित हो गए। उसके बाद उत्तर प्रदेश में बतौर जेलर भी तैनात हुए थे। 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

15 − 6 =

Back to top button