टॉप न्यूज

आरडब्ल्यूए को कोविड प्रोटोकॉल का करना होगा पांलन, अभिषेक प्रकाश

रिपोर्ट – रामकुमार यादव

लखनऊ के सभी आरडब्ल्यूए को कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करना होगा लखनऊ में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए जिलाधिकारी लखनऊ ने आज लखनऊ की विभिन्न आरडब्लूए और महासमिति के साथ आयोजित वैगनआर को संबोधित करते हुए कहा कि आरडब्ल्यू एक संवैधानिक संस्था है बहुमंजिला इमारतों में बड़ी संख्या में लोग रहते हैं लगातार शिकायतें आ रही हैं कि कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन नहीं हो रहा है ।

अभिषेक प्रकाश ने कहा कि आज ही आरडब्ल्यूए के संबंध में विस्तृत गाइडलाइन जारी कर दी जाएगी जिसका पालन कराना सभी आरडब्लूए का कर्तव्य होगा।

वही आरडब्ल्यूए के पदाधिकारियों के सवाल और सुझाव के जवाब में अभिषेक प्रकाश ने कहा कि जो क्षेत्र अभी नगर निगम में शामिल नहीं है और उनका रखरखाव लखनऊ विकास प्राधिकरण कर रहा है वहां एलडीए की तरफ से अभियान के तहत सैनिटाइजेशन कराया जाएगा बाकी नगर निगम सीमा क्षेत्र में नगर निगम की तरफ से सेनेटाइजेसन कराया जाएगा।

इस सम्बंध में अंसल से प्रीति चौबे ने सवाल उठाया कि सुशांत गोल्फ सिटी को निजी बिल्डर अंसल ने विकसित किया है लेकिन अंसल अपनी जिम्मेदारियों को पूरा नही कर रहा जिसपर एलडीए की संयुक्त सचिव एव कोविड प्रोटोकॉल की नोडल अधिकारी ऋतु सुहास ने कहा कि अंसल क्षेत्र के कामन एरिया में सेनेटाइजेसन की जिम्मेदारी अंसल की है उन्हें निर्देशित किया जाएगा ।

जानकीपुरम विस्तार के सभी आरडब्ल्यूए का एक ही आरोप रहा कि एलडीए अभी उन्हें मेंटेन कर रहा है लेकिन सेनेटाइजेसन और फॉगिंग की न तो व्यवस्था है और न ही किसी भी अपार्टमेन्ट में कोविड प्रोटोकॉल का पालन हो रहा है जिस सम्बंध में जिलाधिकारी ने आज ही कार्यवाही के निर्देश दिए है।

लखनऊ जनकल्याण महासमिति के अध्यक्ष उमाशंकर दुबे ने आरडब्ल्यूए के प्रोटोकॉल के साथ साथ सेनेटाइजेसन का मुद्दा उठाया साथ ही जिलाधिकारी से सीएमएस स्कूल में कोविड प्रोटोकॉल का पालन न होने की शिकायत की जिस सम्बंध में जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश ने कहा कि उक्त के सम्बंध में आज ही डीआईओएस को निर्देश दिए जायेंगे और कार्यवाही होगी।

बेवनार में विवेक शर्मा, प्रभात अग्रवाल, रामकुमार यादव, नीरज पाण्डेय,शरद सिंह,शशिकांत शुक्ला, देवेश यादव,सीमा सिंह,हेमंत कुमार गिरि, संजय शर्मा सहित बड़ी संख्या में कोविड प्रोटोकॉल के संबंध में आरडब्ल्यूए के सामने आ रही समस्याओं के साथ साथ अपने सुझाव भी दिए,

वही डॉ अनन्य त्रिपाठी ने सभी पदाधिकारियों को कोविड प्रोटोकॉल के संबंध में न सिर्फ सुझाव दिए बल्कि कोविड की गंभीरता के साथ साथ कैसे बचा जा सकता है उसपर विस्तार से प्रकाश डाला।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

fourteen − 13 =

Back to top button