उत्तर प्रदेश

अखिलेश यादव के पत्रकार वार्ता में हंगामा, पत्रकारों को पीटा

मुरादाबाद में अखिलेश यादव की पत्रकार वार्ता के बाद हंगामा, सुरक्षा कर्मियों ने इलेक्ट्रानिक मीडिया के प्रतिनिधि को पीटा

मुरादाबाद में सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव की प्रेसवार्ता समाप्त होने के बाद सुरक्षा कर्मियों ने एक इलेक्ट्रानिक मीडिया के प्रतिनिधि के साथ धक्का-मुक्की कर दी। इसी को बात को लेकर विवाद हो गया। विवाद बढ़ने पर सुरक्षा में तैनात कमांड़ों ने मीडिया प्रतिनिधियों को दौड़ाकर पीटा।

मुरादाबाद-  समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की पत्रकार वार्ता के बाद हंगामा खड़ा हो गया। पूर्व मुख्यमंत्री के सुरक्षा कर्मियों ने एक इलेक्ट्रानिक मीडिया के प्रतिनिधि के साथ धक्का-मुक्की कर दी। इस दौरान तू-तू मैं-मैं और गाली-गलौज तक हो गई। विवाद बढ़ने पर सुरक्षा में तैनात कमांड़ों ने मीडिया प्रतिनिधियों को दौड़ाकर पीटा। किसी तरह हाल से बचाकर मीडिया प्रतिनिधियों ने अपने आप को बचाया। घटना रात आठ बजे दिल्ली रोड स्थित एक होटल की है। पत्रकार को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

दरसल सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव की पाकबड़ा के होटल में प्रेसवार्ता रखी गई थी। प्रेसवार्ता समाप्त होने के बाद पूर्व मुख्यमंत्री के सुरक्षा कर्मियों ने एक इलेक्ट्रानिक मीडिया के प्रतिनिधि के साथ धक्का-मुक्की कर दी। इसी बात को लेकर विवाद हो गया। विवाद बढ़ने पर सुरक्षा में तैनात कमांड़ों ने मीडिया प्रतिनिधियों को दौड़ाकर पीटा। किसी तरह हाल से बचाकर मीडिया प्रतिनिधियों ने अपने आप को बचाया।

गुरुवार को पाकबड़ा स्थित होटल हॉली डे रीजेंसी के हॉल में सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव की प्रेसवार्ता थी। प्रेसवार्ता का समय साढ़े पांच बजे रखा गया था, जबकि तय समय से करीब दो घंटे देरी से प्रेस को संबोधित करने अखिलेश यादव पहुंचे। रात करीब आठ बजे प्रेसवार्ता समाप्त होने के बाद जब अखिलेश यादव जाने लगे, उसी दौरान एक चैनल के प्रतिनिधि ने उन्हें रोककर बात करने का प्रयास किया, लेकिन सुरक्षा कर्मियों ने चैनल के प्रतिनिधि को धक्का दे दिया। इसी बात को लेकर पत्रकार और सुरक्षा कर्मियों के बीच बहस हो गई।

करीब दस मिनट तक वाद-विवाद और धक्का-मुक्की हुई। अखिलेश यादव को जिस दरवाजे से जाना था, उसी दरवाजे पास कार्यकर्ताओं और पत्रकारों की भीड़ एकत्र हो गई। इसके बाद सुरक्षा तैनात कमांड़ों ने विरोध कर रहे इलेक्ट्रानिक मीडिया के प्रतिनिधि को पीटना शुरू कर दिया। किसी तरह दौड़कर मीडिया के प्रतिनिधियों ने अपने आप को बचाया। इस हंगामे के बाद पूरे कार्यक्रम का माहौल बदल गया। विवाद होने की जानकारी मिलते ही मझोला और पाकबड़ा थाना पुलिस के साथ ही मौके पर एसपी सिटी अमित कुमार आनंद के साथ ही अन्य अधिकारी पहुंच गए। हालांकि देर रात तक किसी भी पक्ष की ओर से इस मामले में पुलिस को कोई तहरीर नहीं दी गई। पत्रकार को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

लोकतंत्र के चौथे स्तंभ पर हमला निंदनीय : लखनऊ जनकल्याण महासमिति के अध्यक्ष एवं वरिष्ठ पत्रकार उमाशंकर दुबे घटना की निंदा की है। उमाशंकर दुबे ने कहा मुरादाबाद में जिस प्रकार अखिलेश यादव की मौजूदगी में पत्रकार के साथ मारपीट हुवा वह निंदनीय है। इसकी जितनी निंदा की जाए कम है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

16 − 15 =

Back to top button